हेल्थ इन्शुरन्स प्लान इन हिंदी। Health insurance plans in hindi.

Health insurance plans in hindi.
Health insurance plans in hindi.

Table of contents :-

स्वास्थ्य बीमा योजनाएँ, स्वास्थ्य बीमा क्या हैं, स्वास्थ्य बीमा योजनाओं का लाभ कैसे उठाया जा सकता हैं, इसकी जानकारी। Health Insurance Plans, What is Health Insurance, Information on how health insurance plans can be availed.

हेल्थ इन्शुरन्स प्लान समय की मांग हैं यदि आप जो भी पैसा कमा रहे हैं उतना ही बचत कर पा रहे हैं यह तो अच्छी बात हैं परंतु कोई क्रिटिकल कंडीशन में आ जाने पर आपके द्वारा अर्जित किया गया सारा पैसा आपके स्वास्थ्य को ठीक करने में चला जाता हैं और आपके बैक बैलेंस फिर से जीरो हो जाते हैं और आप एक बार फिर बुरे वक्त से गुजरने लगते हैं इसलिए एक हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेना अनिवार्य हो जाता हैं।

पुराने जमाने में अक्सर बड़ों, बुजुर्गों द्वारा कहा गया था कि आपका स्वास्थ्य ही आपका धन हैं और इस विश्वास के साथ, हम यह सुनिश्चित करना अपना मिशन बनाते हैं कि आपके स्वास्थ्य से कभी समझौता न हो।

इसलिए हम आपको आपके स्वास्थ्य की रक्षा के लिए कई तरह की योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे। स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के लाभों के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेगा।

अच्छे स्वास्थ्य का तात्पर्य पूर्ण मानसिक, शारीरिक और सामाजिक कल्याण की स्थिति में होना हैं, लेकिन केवल बीमारी की अनुपस्थिति नहीं हैं। स्वस्थ जीवन व्यतीत करते हुए स्वास्थ्य बीमा कवर प्राप्त करना संभव हैं।

हम आपको Health insurance plans in hindi. में कवर करते हुये अच्छे से बतायेगे। कृपया आप आगे स्वास्थ्य बीमा योजनाएँ, स्वास्थ्य बीमा क्या है, स्वास्थ्य बीमा योजनाओं का लाभ कैसे उठाया जा सकता हैं, इसकी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

1.हेल्थ इंश्योरेंस के फायदे। Health insurance benefits in hindi.

कई स्वास्थ्य बीमा योजनाओं से जुड़ने से लाभार्थी को अच्छा लाभ मिलता हैं। अर्थ स्पष्ट हैं कि स्वास्थ्य बीमा ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए विभिन्न स्वास्थ्य बीमा योजनाएँ प्रदान करता हैं और उस वजह से हेल्थ इंश्योरेंस के फायदे पर्टिकुलर स्वास्थ्य बीमा कंपनी से मिलता हैं।

स्वास्थ्य बीमा योजनाएँ बीमारियों, दुर्घटनाओं के कारण होने वाले चिकित्सा खर्चों को कवर करती हैं और अच्छे स्वास्थ्य को बहाल करने के लिए अधिकांश चिकित्सा या शल्य चिकित्सा उपचार को कवर करती हैं।

संक्षेप में, स्वास्थ्य बीमा योजनाएँ भय को कम करने, गुणवत्तापूर्ण देखभाल की सुविधा प्रदान करने, प्रभावित लोगों को समय पर हस्तक्षेप करने और उन्हें ठीक होने पर अधिक ध्यान केंद्रित करने में मदद करती हैं।

इस प्रकार से हेल्थ इंश्योरेंस लेने पर आपके जेब में भार न के बराबर होता हैं और आपको बजट बिगड़ने का चांस बहुत कम हो जाता हैं।

इस प्रकार आपके हेल्थ के साथ वेल्थ भी मैनेज बना रहता हैं। तो देखा आपके द्वारा एक छोटा-सा निर्णय लेने से परिवार में कोई तनाव नहीं होता हैं और सारा खर्च स्वास्थ्य बीमा कंपनी पर चला जाता हैं।

2.हेल्थ इंश्योरेंस प्लान एक समीक्षा। Health insurance plans Review in hindi.

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेना आज के समय में सबसे अच्छा फैसला माना जाता हैं। हेल्थ इंश्योरेंस लेने से पॉलिसी धारक के जीवन में स्वास्थ्य सम्बंधी उपचार का तनाव दूर हो जाता हैं और वह तनाव मुक्त हो जाता हैं और लाइफ में हेल्थ एवं वेल्थ के चिंता न करते हुये आगे बढ़ता हैं।

हम आपको स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की समीक्षा करते समय उनके सभी पहलुओं से अवगत कराएंगे। स्वास्थ्य बीमा योजना की समीक्षा में आपको फायदा और नुकसान के बारे में जानकारी देगी।

साथ ही, आपको स्वास्थ्य बीमा ऑनलाइन खरीदना चाहिए या ऑफलाइन, यह भी कवर करेगा। सबसे पहले हम बात करेंगे स्वास्थ्य बीमा के फायदों के बारे में।

हेल्थ इंश्योरेंस से फायदा। Advantage of health insurance.

 i) आयकर छूट Income Tax Exemption.

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेते समय इस बात पर ध्यान देना आवश्यक हैं कि पॉलिसी आयकर अधिनियम के तहत आयकर से छुट हैं या नहीं। अक्सर, चिकित्सा स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों के लिए भुगतान किए गए प्रीमियम पर कर छूट का लाभ मिलता हैं।

करदाता स्वयं, पति या पत्नी, आश्रित बच्चों और माता-पिता के लिए भुगतान किए गए प्रीमियम पर कर छूट का लाभ उठा सकता हैं। एक अच्छा हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेने से आपको इनकम टैक्स में छूट मिलना तय हैं।

ii) हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज Health insurance coverage.

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदते समय इस बात का ध्यान रखना होता हैं कि कितना प्रीमियम भुगतान के बाद कवर शुरू होता हैं। ऑनलाइन हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदते समय जो आपके कवरेज को तत्काल प्रभाव से सक्रिय करती हैं और पहले प्रीमियम से, यह कुछ शर्तों को छोड़कर तुरंत लागू होती हैं,

फिर आपको यह तय करना होगा कि आप ऑफ़लाइन पॉलिसी लेना चाहते हैं या ऑनलाइन यह आपके विवेक के ऊपर निर्भर करता हैं। दोनों ही हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज देता हैं।

iii) क्रिटिकल कंडीशन कवर Critical Condition Cover.

ऐसी कई स्वास्थ्य बीमा योजनाएँ हैं जो अतिरिक्त रोग-विशिष्ट कवरेज की अनुमति देती हैं। किसी भी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत, पहले से मौजूद बीमारियों और उनकी जटिलताओं को एक निश्चित अवधि के बाद कवर किया जाता हैं।

ऐसी स्वास्थ्य बीमा कंपनी से बीमित व्यक्ति सामान्य मेडिक्लेम से भी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के रूप में गंभीर बीमारियों, कैंसर और हृदय सम्बंधी बीमारियों के साथ-साथ रोगी के अस्पताल में भर्ती होने के लिए रोग-विशिष्ट नीतियों का लाभ उठा सकता हैं। बशर्ते हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी ऐसे परिस्थिति को कवर करता हो।

vi) कैशलेस सुविधा Cashless facility.

पहले के जमाने में हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेने पर कैशलेस की सुविधा नहीं होती थी, उनके वजह से घर में पैसा नहीं होने पर कही से कर्ज लेना पड़ता था और फिर हॉस्पिटल में देना होता था जो बाद में क्लेम करने पर मिलता था।

कैशलेस सुविधा होने पर बीमा पॉलिसीधारक को बहुत फायदा हुआ हैं। वित्त के मामले में देखा जाये आजादी मिली हैं। अस्पताल में भर्ती होने पर कैशलेस सुविधा के तहत मेडिक्लेम से 2 घंटे के भीतर स्वास्थ्य बीमा दावों के निपटान से सम्बंधित प्रक्रिया पूरा करता हैं और बीमारी के इलाज में तेजी होने लगता हैं। इस तरह से हेल्थ इंश्योरेंस प्लान अस्पताल में भर्ती होने वाले सम्पूर्ण खर्च को कवर करती हैं।

v) स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की तुलना करने से लाभ। Benefit from comparing health insurance plans.

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेते समय आप स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम कैलकुलेटर के साथ, प्रीमियम की गणना करना और साथ ही विभिन्न स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की तुलना करने में बहुत फायदा होता हैं।

साथ ही, नीतियों की ऑनलाइन तुलना कर सकते हैं। विभिन्न स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की तुलना करना आसान हो जाता हैं और आप इस तरह से सस्ते दर पर अच्छे हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी प्राप्त कर सकते हैं।

vi) सूचना 24×7 उपलब्ध Information available 24×7.

आज के समय में सब ऑनलाइन हो गया तो आप जो हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी से हेल्थ इंश्योरेंस प्लान ले रहे हैं वह सभी सूचना लगभग 24×7 उपलब्ध करती हैं और इससे आपके हेल्प हो जाती हैं। हम यह मान कर चले कि पॉलिसीधारक को बेहतर जानकारी मिलती हैं और उन्हें फायदा होता हैं।

हेल्थ इंश्योरेंस से नुकसान। Disadvantages of health insurance.

i) छोटे शहरों में कैशलेस सुविधा का अभाव। Lack of cashless facility in small towns.

आज कल के समय में नौकरी पेशा या फिर मिडिल क्लास के लोगों भी स्वास्थ्य बीमा लेने लगे हैं टू टियर और थ्री टियर सिटी में न होने के कारण सही तरह से इलाज नहीं हो पाता हैं असुविधा के कारण बहुत सारे समस्याओं को सामना करना पड़ता हैं।

अस्पताल में भर्ती होने या मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति में उन्हें सही समय पर मदद नहीं मिलती है। इसलिए अपने नजदीकी कैशलेस सुविधा को ध्यान में रखते हुए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी ले सकते हैं।

ii) नियम व शर्तों का खुलासा न करना। Non-disclosure of terms and conditions.

कई हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियाँ अपने नियम और शर्तों का खुलासा नहीं करती हैं और आपात स्थिति में स्वास्थ्य बीमा कंपनी के सलाहकार नियम और शर्तें बताते हैं जिससे पॉलिसी धारक को परेशानी होने लगती हैं। तो कृपया ऐसे हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी से बचे।

iii) प्रीमियम को अनाप शनाप चार्ज करना। Randomly charging premium.

अक्सर देखा गया हैं कि कई हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियाँ प्रीमियम के समय या उसके बाद रैंडम चार्ज जोड़ती हैं। यदि हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी प्रीमियम के समय कोई शुल्क नहीं जोड़ती हैं, तो वे पॉलिसी होल्डर को अस्पताल में भर्ती होने या इमरजेंसी हॉस्पिटल स्थिति के मामले में कुछ शुल्कों को अग्रिम रूप से कवर न करने के लिए बाध्य करते हैं।

अचानक हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी अपनी पॉलिसी में बदलाव करती हैं, जिससे पॉलिसी धारक को अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता हैं। इसलिए ऐसी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी से बचें।

vi) पॉलिसी लेते समय सही जानकारी न देना। Not giving correct information while taking the policy.

पॉलिसी लेते समय सही जानकारी न देने या पॉलिसी लेते समय सही जानकारी न मिलने से पॉलिसीधारक को नुकसान होता हैं। वह सही जगह पर इलाज नहीं करा पाता या फिर फालतू के पैसे बर्बाद होने लगता हैं।

v) कर छूट न होना। No tax exemption.

ऐसा हेल्थ इंश्योरेंस लेने से जिसमें इनकम टैक्स में छूट न हो तो आपकी कमाई का पैसा चला जाएगा और आपको इनकम टैक्स में छूट का फायदा नहीं मिल सकेगा।

vi) सूचना 24x7 उपलब्ध न होना। Information not available 24x7.

सूचना 24×7 उपलब्ध न होने से पॉलिसी सम्बन्धी कोई भी जानकारी नहीं मिल पाता हैं। पॉलिसी धारक को अस्पताल में भर्ती होने के बाद छुट्टी लेने पर हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी से सही जानकारी के अभाव के वजह से नुकसान उठाना पड़ता हैं।

vii) हॉस्पिटल भी न विश्वास करें Do not believe even the hospital.

स्वास्थ्य बीमा ग्राहकों के मूल्यों को बनाए रखता हैं और अस्पताल में भर्ती होने या चिकित्सा आपात स्थिति के लिए डेकेयर प्रक्रियाओं के समय उनकी मदद करना होता हैं।

परंतु कई स्वास्थ्य बीमा कंपनी पॉलिसी धारक के साथ-साथ अस्पताल का पूरा सहयोग नहीं करती हैं, ऐसे में स्वास्थ्य बीमा कंपनी पर से सभी का विश्वास उठ जाता हैं।

इन्हें भी पढ़े:- स्वस्थ व्यक्ति के लक्षण।

3.हेल्थ पॉलिसी क्या होती हैं?। Health policy kya hota hai.

हेल्थ पॉलिसी होने से हेल्थ एवं वेल्थ में नुकसान की चांसेस कम हो जाता हैं। हेल्थ पॉलिसी या चिकित्सा पॉलिसी होना एक प्रकार से बीमाधारक एवं बीमा कंपनी के बीच का अनुबंध होता हैं।

बीमाधारक को एक निश्चित प्रीमियम का भुगतान करना होता हैं जो बीमा कंपनी द्वारा तय किया जाता हैं। जिसे प्रीमियम के रूप में जाना जाता हैं और पॉलिसीधारकों को नवीनीकरण लाभों को खोने से बचने के लिए मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक आधार पर बिना चूक के भुगतान करना पड़ता हैं।

पॉलिसी धारक को बीमा कंपनी चिकित्सा और शल्य चिकित्सा व्यय के लिए क्षतिपूर्ति करने के लिए सहमत होती हैं। परंतु बीमा कंपनी के टर्म एवं कंडीशन रहता हैं उनके अनुरूप पॉलिसी धारक को क्षतिपूर्ति देय होता हैं। हेल्थ इंश्योरेंस या मेडिकल इंश्योरेंस एक एग्रीमेंट ही हैं जो दोनों के बीच टर्म एंड कंडीशन के आधार पर काम करता हैं यह पॉलिसी धारक और बीमा कंपनी दोनों के बीच में तय रहता हैं।

यदि बीमित व्यक्ति बीमार पड़ जाता हैं, या कोई दुर्घटना हो जाती हैं जिससे बीमित व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया जाता हैं, तो चिकित्सा व्यय मिलता है। वह केशलेश भी हो सकता या फिर इलाज के कंप्लीट होने पर बीमा कंपनी उनके बिल के अनुरूप भुगतान करता हैं।

कई हेल्थ पॉलिसी में बीमित व्यक्ति के आने जाने से लेकर सभी खर्च उनके पॉलिसी में कवर रहता हैं जो उनको क्लेम करने पर कवरेज तहत लाभ प्राप्त होता हैं। इस तरह से हेल्थ पॉलिसी काम करता हैं।

4.इंश्योरेंस का क्या फायदा है?। Insurance ka kya fayda hai?.

बीमा का अर्थ हैं एक प्रकार का सुरक्षा कवच और सरल भाषा में बीमाधारक को बीमा कंपनी से एक पॉलिसी लेनी होती हैं जिसमें बीमा का एक समझौता होता हैं जिसमें विशेष चीज जैसे-कार, घर, दुकान, फसल, पशु, पक्षी, होटल, फैक्ट्री आदि को कवर किया जा सकता हैं।

बीमा लेने से होने वाले किसी भी नुकसान की भरपाई के लिए बीमा कंपनी उत्तरदायी होती हैं और ग्राहकों को अपने बीमा प्रीमियम का भुगतान स्वयं करना पड़ता है। उपभोक्ता को कोई तकलीफ न हो इसलिए उनके भरपाई बिना परेशानी के मुक्त इन-हाउस क्लेम सेटलमेंट इंश्योरेंस कंपनी प्रदान करता हैं।

इन सब की तरह हेल्थ इंश्योरेंस भी हैं जो मानव के रक्षा का मतलब इंश्योरेंस धारक को हेल्थ और वेल्थ का सुरक्षा प्रदान करता हैं और उनके एक इंश्योरेंस के चलते उनको गज़ब का फायदा होता हैं।

5.हेल्थ इंश्योरेंस कितने प्रकार के होते हैं?। Health insurance kitane prakar ke hote hain?.

Health insurance kitane prakar ke hote hain.
Health insurance kitane prakar ke hote hain.

हेल्थ इंश्योरेंस को मुख्य रूप से दो श्रेणियों में कवर किया हैं हेल्थ इंश्योरेंस प्लान विभिन्न प्रकार की होती हैं परंतु इन दो वर्गीकृत श्रेणियों को मुख्य माना गया हैं। इनके आधार ही सभी हेल्थ इंश्योरेंस करते हैं।

सबसे पहला एक व्यक्ति का होता हैं जिसे एकल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी बोलते हैं। दूसरा अपने साथ पूरे फैमिली को कवर करता हैं। मैं आगे आपको दोनों हेल्थ इंश्योरेंस पालिसी के जानकारी दूंगा। यदि कही त्रुटि हो या गलती हो कृपया कमेंड बॉक्स में जाकर कमेंड करते हुये अवगत जरूर कराये।

i) व्यक्तिगत हेल्थ इंश्योरेंस प्लान। Individual health insurance plan.

व्यक्तिगत हेल्थ इंश्योरेंस प्लान एक व्यक्ति को कवर करती हैं, चुनी गई बीमा राशि का उपयोग केवल बीमित व्यक्ति ही कर सकता हैं। इस प्रकार से सरल भाषा में कहे तो यह एक व्यक्ति का हेल्थ इंश्योरेंस कवर करता हैं।

इसमें जो प्रमियम देय होती हैं वह एक व्यक्ति के आधार पर होता हैं। व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा योजनाएँ कई लोगों द्वारा ली जाती हैं।

ii) फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान। Family Floater Health Insurance Plan.

फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान के तहत फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस के संदर्भ में, एक परिवार स्वयं, पति या पत्नी और आश्रित बच्चों और माता-पिता को संदर्भित करता हैं।

फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान पूरे परिवार को एक ही प्रीमियम के साथ कवर करता हैं और बीमित राशि परिवार के सदस्यों के बीच रहती हैं।

भारत भर के अस्पतालों में, बीमित व्यक्ति और परिवार के सदस्य अन्य सुविधाओं के साथ-साथ गुणवत्ता-सुनिश्चित रोगी अस्पताल में भर्ती, आधुनिक उपचार, निदान, सर्जरी आदि का लाभ उठा सकते हैं।

इन्हें भी पढ़े:- स्वस्थ रहने के सरल उपाय ।

6.सबसे अच्छा हेल्थ इन्शुरन्स कौन-सा हैं?। Sabase achchha health insurance kaun sa hai?.

i) हेल्थ इन्शुरन्स जो बेहतर हो। Health insurance which is better.

आप उन सभी हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसियों की जांच कर सकते हैं जो सबसे बेहतर हो, उन स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों को ले सकते हैं।

बहुत सारे मानदंड के आधार पर जैसे–परफॉर्मेंस के आधार, कस्टमर रिव्यू, कैशलेस सुविधा, क्लेम सेटलमेंट रेशियो और सबसे महत्त्वपूर्ण होता हैं वह हैं सबसे कम प्रीमियम का होना। तो इस प्रकार से बेहतर और अच्छा हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसियों चयन कर सकते हैं।

ii) परफॉर्मेंस के आधार पर बेस्ट कंपनी। Best company in terms of performance.

हेल्थ इन्शुरन्स कंपनी छोटा हो या बहुत बड़ा हो, उससे कोई फर्क नहीं पड़ता हैं फर्क पड़ता हैं उनके परफॉर्मेंस पर, यदि उनके परफॉर्मेंस खराब हो तो कितनी भी बड़ी कंपनी हो जाये बेकार माना जाता हैं।

हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी लेते समय हम सभी एक ही गलती करते हैं और देखते हैं कि वह हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी का कौन-सा ब्रांड हैं। जब उनके प्रदर्शन की जानकारी बाद में देखी जाती हैं, तो वह बहुत खराब निकलते हैं। इसलिए प्रदर्शन के आधार पर सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य बीमा कंपनी का चयन करना चाहिए।

iii) उनके कस्टमर रिव्यू बेस्ट हो। Their customer reviews are the best.

हेल्थ इन्शुरन्स कंपनी का सबसे महत्त्वपूर्ण हिस्सा जिससे जानकारी प्राप्त की जा सकती हैं वह हैं ग्राहक समीक्षा। ग्राहक समीक्षाओं से, हमें पता चलता हैं कि कंपनी का प्रदर्शन लेबल कितनी अच्छी तरह काम कर रहा हैं।

उनके पॉलिसीधारक कितने संतुष्ट हैं। ग्राहक समीक्षा से पता चलता हैं कि कंपनी पॉलिसी धारक की अपेक्षा के अनुसार काम कर रही हैं या नहीं। इसलिए स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी लेते समय किसी भी समय ग्राहकों की समीक्षाओं की जांच करना सुनिश्चित कर सकते हैं।

iv) कैशलेस नेटवर्क अस्पतालों में सुविधा। Facility in cashless network hospitals.

हेल्थ इन्शुरन्स का सबसे महत्त्वपूर्ण हिस्सा माना जाता हैं कैशलेस फैसिलिटी, कैशलेस नेटवर्क अस्पतालों में सुविधा की दृष्टि से देश के छोटे शहरों में हेल्थ इन्शुरन्स की पहुँच होना चाहिए।

किसी भी अच्छे हेल्थ इन्शुरन्स नेटवर्क अस्पताल में 2 घंटे के भीतर कैशलेस सुविधा प्रदान की जाती हैं। इसे सबसे अच्छा माना जाता हैं।

v) क्लेम समझौता रेशियो (settlement ratio) सबसे बेहतर हो। Best claim settlement ratio.

हेल्थ इन्शुरन्स की सबसे दमदार कालम में क्लेम सेटलमेंट रेशियो का रहता हैं, चाहे कंपनी बड़ी हो या छोटी, उनका क्लेम सेटलमेंट रेशियो उनकी पहचान निर्धारित करता हैं।

उनके क्लेम सेटलमेंट रेशियो से ही उनके पहचान बनता हैं। तो आप क्लेम सेटलमेंट रेशियो में टॉप टेन हेल्थ इन्शुरन्स कंपनी को जरूर चेक करे। नीचे लिंक दिया गया हैं चाहे तो चेक कर सकते हैं।

vi) क्रिटिकल कंडीशन कवर सबसे बेहतर हो। Critical condition cover is the best.

मैंने समीक्षा के लेख में क्रिटिकल कंडीशन कवर के बारे में बताया हैं, आप ऊपर समीक्षा कॉलम देख सकते हैं। कुल मिलाकर यह कहा जाना चाहिए कि हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसीधारक या उसका परिवार के गंभीर स्थिति में काम आये वह बेस्ट हेल्थ इन्शुरन्स माना जाता हैं।

vii) दूसरे हेल्थ इन्शुरन्स से प्रीमियम कम हो। Premium is less than other health insurance.

हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी का सबसे महत्त्वपूर्ण हिस्सा होता हैं वह हैं प्रीमियम, हम सभी चाहते हैं कि प्रीमियम सबसे कम हो, भले ही पॉलिसी हमें सबसे खराब मिले।

ऐसी कई कंपनियाँ हैं जो सबसे सस्ती दरों पर स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी प्रदान करती हैं। लेकिन जब क्लेम सेटलमेंट की बात आती हैं तो वे ढीली साबित होती हैं, इसलिए अगर आपको कम प्रीमियम पर बेहतरीन हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी मिलती हैं, तो कोई बात नहीं, नहीं तो आप सभी दृष्टिकोण को देखते हुए पॉलिसी लें।

मैं यह भी नहीं कह रहा हूँ कि अच्छी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियाँ सस्ती दरों पर उपलब्ध नहीं हैं, आप जांच लें और जांच के बाद पॉलिसी खरीद लें।

viii) कंपनी की डिजिटल स्थिति अच्छा हो। The company’ s digital position is good.

आज इंटरनेट का युग हैं, स्मार्ट फोन हर किसी की जेब में उपलब्ध हैं और देश में स्मार्ट फोन की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही हैं, इसलिए कोई भी अच्छी हेल्थ इन्शुरन्स कंपनी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर अपनी उपस्थिति चाहेगी।

तो आप जांच लें कि हेल्थ इन्शुरन्स कंपनी की डिजिटल स्थिति सबसे अच्छा हो।

ix) कस्टमर सर्टिफिकेशन। Customer Certification.

दुनिया में ऐसी कोई कंपनी नहीं हैं जो अपने ग्राहकों को कस्टमर सर्टिफिकेशन न दे। परंतु कोई न कोई समस्या हमेशा आती ही रहती हैं।

ऐसे स्थिति में आप ऊपर में दिये सभी माप दंड देख सकते हैं। यदि कस्टमर को खुसी मिलती हैं तो वे सबसे अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी में एक होगा। माना जा सकता हैं कि इन सभी मानकों को देखने के बाद आपको उस स्वास्थ्य बीमा कंपनी से संतुष्टि जरूर मिलेगी।

7.बेस्ट हेल्थ इन्शुरन्स प्लान कैसे खरीदे। How to buy helth insurance plan in hindi.

आप ऊपर दिए गए कॉलम में दिए गए मापदंडों को देखकर स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी खरीद सकते हैं और अधिक विवरण के लिए समीक्षा की जांच कर सकते हैं।

8.हेल्थ इन्शुरन्स प्लान फॉर फॅमिली। Health insurance plan for family in hindi.

Health insurance plan for family in hindi.
Health insurance plan for family in hindi.

हेल्थ इन्शुरन्स प्लान फॉर फॅमिली का मतलब फैमिली स्वास्थ्य बीमा के संदर्भ में बताया गया हैं। एक परिवार स्वयं, पति या पत्नी और आश्रित बच्चों और माता-पिता को संदर्भित करता हैं।

फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान पूरे परिवार को एक प्रीमियम के साथ कवर करता हैं और बीमित राशि बीमित परिवार के सदस्यों के बीच रहती हैं।

भारत भर के अस्पतालों में, बीमित व्यक्ति और परिवार के सदस्य अन्य सुविधाओं के साथ-साथ गुणवत्ता-सुनिश्चित रोगी अस्पताल में भर्ती, आधुनिक उपचार, निदान, सर्जरी आदि का लाभ उठा सकते हैं।

इन्हें भी पढ़े:- स्वस्थ रहने के लिए खानपान।

9.हेल्थ इंश्योरेंस क्या हैं। Health insurance kya hai.

अक्सर कहा जाता हैं कि आपका स्वास्थ्य ही आपका धन हैं। इसलिए हेल्थ इंश्योरेंस क्या है और क्यों जरूरत हैं नीचे कालम में बता रहे हैं।

स्वास्थ्य बीमा या चिकित्सा बीमा एक समझौता हैं जिसमें बीमा कंपनी बीमाधारक को पॉलिसी अवधि के दौरान किए गए चिकित्सा और शल्य चिकित्सा व्यय के लिए क्षतिपूर्ति करने के लिए सहमत होती हैं।

स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम एक बीमा कंपनी द्वारा तय किया जाता हैं और पॉलिसीधारकों को नवीनीकरण लाभों को खोने से बचने के लिए मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक आधार पर बिना किसी चूक के भुगतान करना होता हैं और बिना किसी दिक्कत के पॉलिसी धारक अपने हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का फायदा लेता हैं।

10.निष्कर्ष। Conclusion. Best health insurance in hindi.

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेने का मतलब परिवार की जरूरतों को पूरा करना और आर्थिक चुनौतियों से छुटकारा पाना हैं। यदि स्वास्थ्य बीमा योजना न लेने से जीवन भर की कमाई इलाज में चली जाती हैं तो उन सभी समस्याओं को कम करने के लिए कोई स्वास्थ्य बीमा योजना ले सकता हैं।

हेल्थ इन्शुरन्स प्लान लेने से चाहे महामारी के दौरान या गंभीर स्थिति के दौरान सभी पल में काम आता हैं। कई अच्छी स्वास्थ्य बीमा कंपनियाँ हैं जो सर्वोत्तम कवरेज प्रदान करती हैं।

किफायती प्रीमियम के साथ अत्यधिक चिकित्सा खर्चों को कवर करने के लिए डिज़ाइन किया गया हैं। यह स्वास्थ्य बीमा योजना व्यक्तिगत और-और पारिवारिक फ्लोटर कवरेज के साथ आपके परिवार को भी कवर करती है। इसलिए आपको कभी आर्थिक तंगी का समान नहीं करना पड़ेगा और हेल्थ एवं वेल्थ मैनेज होता रहेगा।

11. हेल्थ इन्शुरन्स प्लान से जुड़ी आपसे कुछ बातें। Some things related to health insurance plan from you.

Health insurance plans in hindi.
Health insurance plans in hindi.

 हेल्थ इन्शुरन्स प्लान आप अपने लिए और फॅमिली के लिए ले सकते हैं और लेना ही चाहिए परंतु पूरी तरह से जाँच परख लेने के बाद ले। अधिक जानकारी के लिए अपने हेल्थ इन्शुरन्स एक्सपर्ट से मिल सकते हैं और उनके राय लेने के बाद कोई हेल्थ इन्शुरन्स प्लान ले सकते हैं।

अगर आपको लगता हैं कि हेल्थ इन्शुरन्स प्लान के इस लेख ने किसी भी समस्या का समाधान किया हैं तो कृपया कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट करना न भूलें और बोतल्दा केयर में लिखी गई पोस्ट को बेहतर बनाने के लिए अपने सुझाव दे सकते हैं।

कृपया हेल्थ इन्शुरन्स प्लान के बारे में लिखी गई इस पोस्ट को अपने Family एवं Friends के साथ साझा करें। पोस्ट को पढ़ने के बाद आप Facebook, twitter, Whatsapp के Social icon पर जाएँ और अपनी पसंद का कोई भी बटन दबाएँ जिसे आप इस्तेमाल करना चाहते हैं लेकिन शेयर जरूर करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here