हिरण इन हिंदी। About Deer in Hindi.

About Deer in Hindi.
About Deer in Hindi.

हिरण के बारे में पूर्ण जानकरी। Information About Deer In Hindi.

i) हिरण दुनिया में स्तनधारियों का सबसे बड़ा समूह है। वे अंटार्कटिका को छोड़कर हर महाद्वीप पर पाए जाते हैं। हिरण की 60 से अधिक प्रजातियाँ हैं, जिनमें बारहसिंगा, मूस और कारिबू शामिल हैं।

ii) हिरण विभिन्न प्रकार के आवासों में रहते हैं, जिनमें वन, रेगिस्तान और आर्द्रभूमि शामिल हैं। हिरण मुख्य रूप से पत्तियों और अन्य पौधों की सामग्री पर फ़ीड करते हैं, लेकिन छाल, टहनियाँ और एकोर्न भी खाते हैं।

iii) हिरणों को शर्मीले जीव के रूप में जाना जाता है, लेकिन जब उन्हें खतरा महसूस होता है या जब उनके बच्चों को खतरा होता है तो वे खतरनाक हो सकते हैं।

iv) हिरण एक स्तनधारी जानवर है। हिरण घास के मैदानों में पाए जाते हैं। यह जीव अंटार्कटिका और ऑस्ट्रेलिया को छोड़कर पूरी दुनिया में पाया जाता है।

v) नर हिरण केवल अपने सींगों से ही मादा को आकर्षित करता है। हिरण के सींग बहुत मजबूत होते हैं।

vi) हिरण एक खूबसूरत जीव है जो अपनी खूबसूरत आंखों के लिए जाना जाता है। वे अपनी सुंदर चाल और हवा में ऊंची छलांग लगाने के तरीके के लिए भी जाने जाते हैं।

vii) मादा हिरण वसंत ऋतु में शावकों को जन्म देती है, जिनकी संख्या 1 या 2 होती है। जन्म के कुछ घंटे बाद हिरण का बच्चा चलने लगता है। मादा हिरण को हिरनी भी कहा जाता है।

viii) अपने स्वयं के सींग की शक्ति से अंधे, वे भूल जाते हैं कि उनके पास भी एक सिर है और इसलिए वे मर जाते हैं।

ix) हिरण की दो आंखें, दो कान और चार पैर होते हैं। हिरण हल्के भूरे रंग का होता है और इसके शरीर पर सफेद गोलाकार धारियाँ होती हैं। हिरण अपनी आंखों से 300 डिग्री तक देख के क्षमता रखता है।

x) हिरण के लंबे और मजबूत पैर होते हैं। हिरण की दौड़ने की गति 40 मील प्रति घंटा होती है। हिरण कूदने में माहिर होते हैं और ये 10 फीट तक छलांग लगा सकते हैं।

xi) हिरण की कुछ प्रजातियों में एल्क, हिरन, खच्चर हिरण, सफेद पूंछ वाले हिरण और काली पूंछ वाले हिरण शामिल हैं।

xii) नर हिरण केवल अपने सींगों से ही मादा को आकर्षित करता है। हिरण के सींग बहुत मजबूत होते हैं।

xiii) शावक साल भर अपनी माँ के साथ रहता है और शावक उसकी देखभाल करता है।

xiv) हिरण की सुनने की शक्ति बहुत अधिक होती है। यह जरा-सी चोट को भी सुन लेता है और सतर्क हो जाता है।

xv) हिरण पानी में भी अच्छे से तैर सकता है।

xvi) हिरण की सूंघने की क्षमता भी बहुत तेज होती है।

इन्हे भी पढ़े:- किंगफिशर पक्षी।

1.हिरण का वैज्ञानिक नाम In Hindi.

हिरण या मृग (Deer) एक खुरदार वाले रोमांटिक स्तनधारियों का एक समूह है जो वैज्ञानिक रूप से Cervidae नामक जैविक परिवार के सदस्य हैं। इसे दो समूहों में वर्गीकृत किया गया है: Cervinae (पूर्वजों का हिरण, जैसे चीतल) और Capriolinae (हिरन और रो हिरण) । तो दोस्तों आप जान गये होगे हिरण का वैज्ञानिक नाम हिन्दी में।

इन्हें भी पढ़े:- सर्प मृत्यु तेल।

2.हिरण की विशेषताएँ।

i) हिरण में कई ऐसी खूबियाँ होती हैं जो उसके शिकारियों से उसकी रक्षा करती हैं। जैसे-उसके लम्बे कान उसे शिकारी की गतिविधि की जानकारी देते हैं।

इसके सिर के दोनों ओर स्थित आंखें हर दिशा में देखकर खतरे का आभास कर सकती हैं। हिरण की तेज गति उसे शिकारी से दूर भागने में मदद करती है।

ii) हिरण आमतौर पर पतले शरीर और लंबे पैरों वाले छोटे से मध्यम आकार के जानवर होते हैं। उनके प्रत्येक पैर में चार उंगलियाँ होती हैं जिनका उपयोग वे अपने वातावरण के माध्यम से तेज़ी से आगे बढ़ने और वस्तुओं पर पकड़ बनाने के लिए करते हैं।

इन्हे भी पढ़े:- किंगफिशर बीयर।

3.हिरण के सींग की कीमत।

काले हिरण के सींग और सिर के लिए लाखों रुपये मिलते हैं। इंटरनेशनल मार्केट में इनकी कीमत 5 से 10 लाख रुपए बताई जाती है।

इन्हे भी पढ़े:- व्हाट अबाउट यू मीनिंग इन हिंदी।

4.हिरण के प्रकार।

हिरण की प्रजातियाँ-हिरण की लगभग 60 प्रजातियाँ या प्रकार हैं, जिनमें बारहसिंगा, रो हिरण और मूस नामक प्रजातियाँ भी शामिल हैं। मूस हिरण की सबसे बड़ी प्रजाति है। पाडु नामक प्रजाति हिरण की सबसे छोटी प्रजाति है।

हिरण अंटार्कटिका को छोड़कर हर महाद्वीप पर पाए जाते हैं। वे दुनिया में दूसरे सबसे बड़े प्रकार के स्तनपायी हैं। लगभग 60 प्रकार के हिरण हैं, जिनमें से कुछ अन्य की तुलना में अधिक सामान्य हैं।

सबसे आम प्रकार सफेद पूंछ वाला हिरण है, जो पूरे उत्तरी अमेरिका और पूर्वी एशिया में पाया जा सकता है। अगला सबसे आम प्रकार खच्चर हिरण है, जो पश्चिमी उत्तरी अमेरिका और मध्य अमेरिका में पाया जा सकता है। तीसरा सबसे आम प्रकार लाल हिरण है, जो पूरे यूरोप और एशिया में पाया जा सकता है।

इन्हे भी पढ़े:- हाउ आर यू डूइंग इन हिन्दी।

5.People Also Ask.लोग भी पूछते हैं।

About Deer in Hindi.
About Deer in Hindi.

i) हिरण से किस भगवान का सम्बंध है?

हिरण से जुड़ा देवता आर्टेमिस है। आर्टेमिस शिकार, जंगल और जंगली जानवरों की ग्रीक देवी है। वह उर्वरता और संतानोत्पत्ति की देवी भी हैं। प्राचीन ग्रीक धर्म और मिथक में, कहा जाता था कि आर्टेमिस का जन्म उसके जुड़वां भाई अपोलो के पास डेलोस द्वीप पर माउंट सिंथस की एक गुफा में हुआ था।

ii) Deer क्या खाता है?

हिरण शाकाहारी होते हैं और पत्ते, फल, फूल, घास और अन्य पौधे खाते हैं। वे पत्तियों की ऊपरी परत को उतार कर झाड़ियों या पेड़ों की पत्तियों को खाते हैं। वे घास को भी अपनी जड़ों से खींचकर चरते हैं।

iii) हिरण का क्या अर्थ होता है?

शब्द “हिरण” एक पुराना अंग्रेज़ी शब्द है जिसका अर्थ है “प्राणी” या “जानवर” । हिरण शब्द प्रोटो-जर्मनिक * डाविज़ से आया है, जिसका अर्थ है “जानवर”।

हिरण शब्द का प्रयोग प्राय: पशु के पर्याय के रूप में किया जाता है, लेकिन इसके कुछ अन्य अर्थ भी हैं। हिरण उस जानवर को संदर्भित कर सकता है जिसे हम जानते हैं और प्यार करते हैं, या यह जानवरों के एक समूह को संदर्भित करता है।

iv) हिरण की आयु कितनी होती है?

हिरण स्तनधारी हैं और इस तरह उनके जीवन चक्र मनुष्यों की तुलना में भिन्न होते हैं। जंगल में एक हिरण की औसत उम्र 10 साल होती है, लेकिन कुछ 15 साल तक भी जीवित रह सकते हैं। कैद में, हिरण 20 साल तक जीवित रह सकता है। “आप एक हिरण के औसत जीवनकाल का वर्णन कैसे करेंगे?” यह कहना कठिन होगा कि एक हिरण की औसत आयु कितनी होती है।

v) हिरन कहाँ रहता है?

हिरण कई अलग-अलग प्रकार के आवासों में रहते हैं, लेकिन वे आमतौर पर जंगलों और वुडलैंड्स में पाए जाते हैं। वे घास के मैदानों और आर्द्रभूमि में भी रहते हैं, जहाँ वे वहाँ उगने वाले पौधों को खाते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका में, अलास्का को छोड़कर हर राज्य में हिरण पाया जा सकता है। कनाडा में, न्यूफ़ाउंडलैंड और लैब्राडोर को छोड़कर हर जगह हिरण पाए जाते हैं।

vi) हिरन का सींग क्या काम आता है?

हिरण के सींगों का इस्तेमाल कई चीजों के लिए किया जाता है। उनका उपयोग हिरणों को साथी खोजने, अन्य हिरणों से लड़ने और शिकारियों से खुद को बचाने में मदद करने के लिए किया जाता है। हिरण के सींगों का उपयोग शिकारियों जैसे कि भेड़ियों और भालुओं से सुरक्षा के रूप में भी किया जाता है जो उन्हें खाना चाहते हैं।

vii) हिरण की कितनी प्रजातियाँ होती है।

हिरण परिवार Cervidae में हिरण की चार प्रजातियों में से किसी को भी संदर्भित कर सकता है: मूस, एल्क, सफेद पूंछ वाले हिरण और खच्चर हिरण।

viii) हिरन का स्त्रीलिंग क्या होता है?

मृग का स्त्रीलिंग डो है।

ix) हिरण की विशेषता क्या है?

हिरण शाकाहारी होते हैं और वे पौधों पर भोजन करते हैं। उनके पास गंध और सुनने की गहरी भावना है। वे बेहतरीन तैराक भी हैं।

x) हिरण के सींग का रेट क्या है?

हिरण सिंह का वजन 1 किलो 605 ग्राम है, जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कीमत 5 से 10 लाख से ज्यादा बताई जाती है।

xi) हिरण के सींग को घर में रखने से क्या होता है?

कुछ संस्कृतियों में हिरण के सींगों को सौभाग्य का आकर्षण माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि जो लोग उन्हें अपने घरों में रखते हैं, वे उनके लिए समृद्धि और धन ला सकते हैं।

xii) हिरण का सींग अवैध है।

हिरण का सींग अवैध है क्योंकि यह हिरण पालन उद्योग का उपोत्पाद है। हिरण सींग एक पूरक है जिसका उपयोग कुछ कोशिकाओं और ऊतकों के विकास को प्रोत्साहित करने के साथ-साथ गठिया जैसी चिकित्सा स्थितियों के इलाज के लिए किया जाता है। इसमें प्राकृतिक रूप से इंसुलिन जैसा ग्रोथ फैक्टर 1 (IGF-1) होता है।

xiii) हिरण की खाल से क्या बनता है?

हिरण की खाल के कई उपयोग हैं। इसका उपयोग चमड़े के उत्पादों जैसे दस्ताने और जूते के लिए किया जाता है। हिरण की त्वचा का उपयोग एंटलर वेलवेट जैसी दवा के लिए भी किया जाता है जिसका उपयोग कामोत्तेजक या जोड़ों के दर्द से राहत के लिए किया जा सकता है।

xiv) हिरण के सींग को क्या बोलते हैं?

हिरण के सींगों को एंटलर कहा जाता है।

इन्हे भी पढ़े – क्रिसमस इन हिन्दी।

इन्हे भी पढ़े – हैप्पी न्यू ईयर।

OnFacts.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here